Welcome, Guest. Please login or register.
Did you miss your activation email?
August 24, 2017, 12:47:02 AM

Login with username, password and session length

Author Topic: हिंदी शायरी  (Read 611 times)

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #15 on: April 01, 2017, 12:23:10 AM »
0
मौहब्बत की मिसाल में,
बस इतना ही कहूँगा ।
बेमिसाल सज़ा है,
किसी बेगुनाह के लिए ।

ShayarFamily--> Shayaro Ki Mehfil

Re: हिंदी शायरी
« Reply #15 on: April 01, 2017, 12:23:10 AM »

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #16 on: April 01, 2017, 12:32:29 AM »
0
दिल का हर राज दे दिया उनको मैहरबान समझ कर,
लगाया मौत को गले से हमने,उनका फरमान समझ,कर ,
वो नादान क्या जाने मेरी दीवानगी कि हद को,
कि हर सितम को सहा है हमने उसका अहसान समझकर|

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #17 on: April 01, 2017, 12:36:41 AM »
0
हमें न मोहब्बत मिली न प्यार मिला,
हम को जो भी मिला बेवफा यार मिला,
अपनी तो बन गई तमाशा ज़िन्दगी,
हर कोई अपने मकसद का तलबगार मिला|

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #18 on: April 01, 2017, 12:38:10 AM »
0
उस मोड़ से शुरू करें
चलो फिर से जिंदगी
हर शय हो जहाँ नई सी
और हम हो अज़नबी

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #19 on: May 01, 2017, 06:53:44 PM »
0
अधूरी बातें अधूरी यादें,
रह गयी ज़िंदगी अधूरी
मैं कैसे मान जाउन मेरे बिन
आप ज़िए होंगे अपनी ज़िंदगी पूरी

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #20 on: May 01, 2017, 07:10:35 PM »
0
कुछ पुरानी यादें फिर से तेरी कहानी कह गयी,
फिर ना रहा कुछ पास मेरे बस आँखों मे निशानी रह गयी
तेरी वो नादानियाँ अब भी सब याद है मुझे
कैसे सम्झाउ इस दिल को, याद रख सकने को
अब यही निशानियाँ रह गयी...
[mine]
« Last Edit: May 01, 2017, 07:25:37 PM by ~Rahul~ »

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #21 on: May 01, 2017, 07:16:20 PM »
0
मुझे तो प्यार करना भी सिखाया तूने
शुक्रगुज़ार हूँ जो कभी अपना बनाया तूने,
तेरे जाने से अब रहा प्यार पर ऐतबार नही
कभी इंसान था क्यों पथर बनाया तूने...
[mine]
« Last Edit: May 01, 2017, 07:25:13 PM by ~Rahul~ »

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #22 on: May 01, 2017, 07:24:39 PM »
0
मेरा कसूर तो कभी बताओ मुझको
ऩाराज़ हुए हो क्यों ना सताओ मुझको,
तेरे काबिल नही हूँ मान लेता हूँ,
हमदम ना सही पर दोस्त तो बनाओ मुझको... [mine]

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #23 on: May 13, 2017, 10:09:33 AM »
0
Koyi waqt purana yaad aaya,
Fir dour suhana yaad aaya...

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #24 on: May 13, 2017, 10:16:22 AM »
0
*क्या बेचकर हम तुझे खरीदें,*
*ऐ ज़िन्दगी...*
*सब कुछ तो गिरवी पड़ा है,*
*ज़िम्मेदारियों के बाज़ार में...* [nm]

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #25 on: May 13, 2017, 10:56:59 AM »
0
*ये जो खामोश से अल्फाज़ लिखेे हैं ना,*
*पढना कभी ध्यान से चीखते कमाल हैं...

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #26 on: May 14, 2017, 08:35:31 PM »
0
क्यों बनूँ मैं,,, किसी और के जैसा!!!!
ज़माने में,, जब कोई मुझ सा नहीं.!!!!!
:nana: :nana:

~Rahul~

Re: हिंदी शायरी
« Reply #27 on: May 14, 2017, 09:17:57 PM »
0
चेहरे की हंसी से गम को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो,
ख़ुद ना रूठो पर सबको हंसा दो,
यही राज है जिन्दगी का, जियो और जीना सिखा दो..
[nm]

ShayarFamily--> Shayaro Ki Mehfil

Re: हिंदी शायरी
« Reply #27 on: May 14, 2017, 09:17:57 PM »

 

Recent

Members
Stats
  • Total Posts: 64021
  • Total Topics: 2644
  • Online Today: 12
  • Online Ever: 109
  • (April 13, 2017, 11:56:38 PM)
Users Online
Users: 0
Guests: 10
Total: 10